• Tue. Jul 23rd, 2024

ByNagendra Tandon

Sep 13, 2023
Spread the love

समाचार
जैसे हमारी आर्मी तत्परता से देश की सुरक्षा करती है, वैसे ही पैरालीगल वॉलिंटियर्स का यह दायित्व है कि वह प्रदेश के अंतिम छोर तक बच्चों की सुरक्षा एवं अधिकारों को संरक्षित करने हेतु प्रतिबद्ध रहें – जस्टिम गौतम भादुड़ी
बिलासपुर, 12 सितम्बर 2023/सरकार विभिन्न कानून बनाती है, जिसके क्रियान्वयन हेतु एजेंसी बनी हुई है, इसी में बच्चों से संबंधित बहुत सारे कानून बने हुए हैं, जो बच्चों के हित एवं कल्याण को संरक्षित करती है, जिन्हें आमजन तक पहुंचाये जाने में पैरालीगल वॉलिंटियर्स की एक बहुत बड़ी भूमिका हो सकती है। जैसे हमारी आर्मी तत्परता से देश की सुरक्षा करती है, वैसे ही पैरालीगल वॉलिंटियर्स का यह दायित्व है कि वह प्रदेश के अंतिम छोर तक बच्चों की सुरक्षा एवं अधिकारों को संरक्षित करने हेतु प्रतिबद्ध रहें। पैरालीगल वॉलिंटियर्स का काम ग्राउण्ड लेवल का होता है, वे सीधे आम लोगों से जुड़कर कार्य करते हैं, वे बच्चों के माता पिता को बच्चों से संबंधित कानून को समझाये और लोगों को जागरूक करें। पीएलव्ही हमारी संस्थान के बेसिक फोर्स हैं, वे नये आईडिया भी लाये, उक्त बातें छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के माननीय कार्यपालक अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री गौतम भादुड़ी ने राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण (सालसा) बिलासपुर एवं यूनिसेफ छत्तीसगढ़, रायपुर के सयुंक्त तत्वावधान में बच्चों की सुरक्षा प्रणाली एवं संबंधित विधान विषय पर दिनांक 12 से 15 सितम्बर, 2023 तक 04 दिवसीय आयोजित पैरालीगल वॉलिंटियर्स (पीएलव्ही) के प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारम्भ समारोह की अध्यक्षता करते हुए कही। प्रशिक्षण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि यूनिसेफ छत्तीसगढ़ के प्रमुख श्री जॉब जकारिया ने सम्बोधित करते हुए कहा कि बच्चों से संबंधित सबसे ज्यादा कानून भारत में है। किसी भी कानून को प्रभावी करने के लिये तीन चीज आवश्यक है, पहली लोगों को कानून के बारे में जानना चाहिए, दूसरा वह कानून समाज में स्वीकार्य होना चाहिए और तीसरा कानून के क्रियान्वयन के लिये संसाधन होने चाहिये और इस हेतु पैरालीगल वॉलिंटियर्स महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। कार्यक्रम में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा पीएलव्ही से संबंधित प्रकाशित पुस्तिका का भी विमोचन किया गया। कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री आनंद प्रकाश वारियाल तथा सफलतापूर्वक मंच संचालक श्री गिरीश कुमार मंडावी, उप सचिव द्वारा किया गया। अवगत हो कि सालसा एवं यूनिसेफ के संयुक्त तत्वाधान में छत्तीसगढ़ के समस्त जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों में नियुक्त पैरालीगल वॉलिंटियर्स का चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पुराना उच्च न्यायालय भवन बिलासपुर के सभागार में दिनांक 12 से 15 सितम्बर, 2023 तक चार बैच में आयोजित किया जा रहा है, जिसमें प्रत्येक बैच में सभी जिलों के लगभग 70 पैरालीगल वॉलिटियर्स भाग लेकर प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। उपरोक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम में रिसोर्स पर्सन के रूप में यूनिसेफ के सरवत नकवी, अध्यक्ष बाल कल्याण समिति रायपुर, विपिन ठाकुर, सदस्य किशोर न्याय बोर्ड रांजनादगांव, शबना परवीन, प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता एवं सालसा के अधिकारियों के द्वारा प्रशिक्षण दिया जावेगा। कार्यक्रम में यूनिसेफ की सुश्री चेतना देसाई, श्री रितेश कुमार, काउन्सिल टू सिक्युटर जस्टिस के वरिष्ठ अधिकारीगण तथा सालसा अन्य अधिकारी कर्मचारीगण बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

क्रमांक/47/1090
–00–


Spread the love